अपने की अपनी

वो मेरे सिर्फ अपने की अपनी थी।
महसूस न होने दिया पराएपन को
फिर मैं कैसे कहूँ नहीं अपनी थी।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

4 Comments

  1. Satish Pandey - August 5, 2020, 10:13 pm

    वाह

  2. Geeta kumari - August 5, 2020, 10:25 pm

    दुखद घटना पर आधारित सा लगा मुझे हो सकता है ,में गलत हूं। यदि गलत हूं तो क्षमा प्रार्थी हूं🙏

  3. vivek singhal - August 5, 2020, 10:50 pm

    Aap pareshan na ho vinay sir.

  4. मोहन सिंह मानुष - August 5, 2020, 11:12 pm

    😔😢 हिम्मत रखियेगा सर!

Leave a Reply