आँखों में…..

आँखों में मैं खुवाब लिए फिरता हू,
इसलिये भी मोहोब्बत से मैं डरता हू….!!

-देव कुमार

Related Articles

Responses

New Report

Close