आँखो से भी जलन

आँखो से भी जलन

अब तो आँखो से भी
जलन होती हैं मुझे ऐ
??कान्हा ??
खुली हो तो तलाश तेरी
बंद हो तो ख्वाब तेरे

आप सभी कृष्ण प्रेमियों को
जय श्री राधे राधे ?
जय श्री कृष्ण ?
जय शिव शम्भू ?
?शुभप्रभात ?

आप का दिन
शुभ एवं मंगलमय हो

आपका….. जानकी प्रसाद विवश…..।

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Kavi Manohar - August 24, 2016, 4:54 pm

    Shubkaamnaae

  2. Vipendra Pal Singh - August 24, 2016, 9:01 pm

    nice

  3. Sridhar - August 25, 2016, 3:03 pm

    nice

  4. Neelam Tyagi - August 25, 2016, 3:56 pm

    जन्माष्टमी की शुभकामनाएं

Leave a Reply