‘एक सवाल’

‘एक सवाल’:-

अजीब विडंबना है देश की
एक ही समय पर एक ही बात के लिए
स्त्री पुरुष के लिए अलग-अलग नियम क्यों?
यह बात मेरी समझ से परे है।
और आए दिन यह सवाल मेरे मस्तक पटल पर घूमता रहता है कि आज के इस वैज्ञानिक युग में भी स्त्री और पुरुष के लिए अलग-अलग नियम क्यों?
यदि कोई पुरुष विवाह के उपरांत पर स्त्री से संबंध रखता है। तो बस यही कह कर टाल दिया जाता है कि वो तो आदमी है।
परंतु यदि यही कार्य स्त्री करे तो उसे समाज से बहिष्कृत कर दिया जाता है।
स्त्री-पुरुष दोनों एक ही ईश्वर की रचना है तो नियमों में इतना फेर क्यों?
क्या पुरुष का समाज की सभी स्त्रियों पर अधिकार है
परंतु पत्नी का अपने पति पर भी नहीं।
यही एक सवाल अक्सर मेरे मस्तक पटल पर घूमता रहता है। और मुझे निराशा की ओर ले जाता है।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

12 Comments

  1. Abhishek kumar - June 29, 2020, 9:17 pm

    समस्या गम्भीर है और लोगों की सोंच बदलने की आवश्यकता है

  2. Master sahab - June 29, 2020, 9:23 pm

    अच्छी रचना प्रस्तुति, true 👌👌👌

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - June 29, 2020, 10:07 pm

    Nice

  4. Priya Choudhary - June 30, 2020, 7:45 am

    हमारा देश पित्र प्रधान रहा है पर अब यह प्रथा बदल जाएगी जब आत्मसम्मान की सोच सामने आएगी

  5. Anurag Shukla - July 7, 2020, 8:21 pm

    true

  6. Anurag Shukla - July 7, 2020, 8:40 pm

    👌👌👌

Leave a Reply