कन्या दान करोगे

आया है,
नवरात्र का दिन,
एक विनती,
सबसे से करते हैं,|
श्रध्दा और,
विश्वास भी हो,
प्रेम और,
पूजा पाठ भी हो |
मूर्ति विसर्जन करना भाई,
प्रदूषण का ध्यान भी हो|
ज्योति जलाओ,
प्रेम दिखाओ,
मां के भवन में
आनंद मनाओ,
नव दिन सब ध्यान धरो,
कोविड नियम का पालन करो|
संकल्प दिलाओ,
सब ले लो भाई,
माँ के नव दिन चरणों में,
नारी सुरक्षा का
संकल्प उठाओ,
बैठे माँ के
नव दिन चरणों में|
दो वर्षीय बेटी,
रेप में मर जाएँ,
फिर नौ कन्या,
कहाँ से लाओगे,
किसके पांव धोओगे
जरा सोच विचार करो
कल किसका
कन्या दान करोगे
—————————-
***✍ऋषि कुमार “प्रभाकर “


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Geeta kumari - October 17, 2020, 12:08 pm

    अति सुन्दर रचना और अति सुंदर भाव .

  2. Pragya Shukla - October 17, 2020, 1:11 pm

    सुंदर विचारों को प्रस्तुत करती हुई तथा अच्छा संदेश देती हुई रचना

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - October 17, 2020, 5:49 pm

    अतिसुंदर

  4. Praduman Amit - October 17, 2020, 6:57 pm

    कविता उच्च कोटि की है।

  5. Satish Pandey - October 19, 2020, 10:21 am

    अच्छे विचारों से ओत प्रोत अच्छी कविता

Leave a Reply