*करवा चौथ पूजन*

करवा पूजन चली सखी संग,
देखो आज सुहागन
आज चांद की राह देखती,
पहन के चूड़ा, कंगन
धूप,दीप से रौशन करती घर,
गौरी मां से, मांगे साजन का साथ
चांद देख , साजन की करे आरती,
पिए जल पिया के हाथ
आशीष ले कर,
सास-ससुर से सौभाग्य वती का
देखो हर्षित हुई सुहागन,
लाज से मुख मंडल दमका

*****✍️गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

10 Comments

  1. Rishi Kumar - November 4, 2020, 8:25 pm

    Very good👍👍👍

  2. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 4, 2020, 8:46 pm

    बहुत खूब

  3. Pragya Shukla - November 5, 2020, 12:08 pm

    Beautiful poem

  4. vivek singhal - November 5, 2020, 11:20 pm

    👌👌👌

  5. Dhruv kumar - November 8, 2020, 9:48 am

    Nyc

Leave a Reply