करोना चालीसा

हे करोना दुःख के गागर।
जय महाकाल मृत्यु के सागर।।
जय करोना देव गोंसाई।
जो भजा वह जान गंवाई।।
बल में कहलाए बलधामा।
काल पुत्र दुःख सुतनामा ।।
कृपा हो जाए जिस पर तुम्हारी।
बन जाए वह बाल ब्रह्मचारी।।
जब से करोना नाथ पधारे।
रिश्ते नाते भाई बंधु छूटे हमारे।।

Related Articles

करोना चालीसा

हे करोना दुःख के गागर। जय महाकाल मृत्यु के सागर।। जय करोना देव गोंसाई। जो भजा वह जान गंवाई।। काल करोना हर्ष उड़ आए। दिव्य…

करोना चालीसा

हे करोना दुःख के गागर। जय महाकाल मृत्यु के सागर।। जय करोना देव गोंसाई। जो भजा वह जान गँवाई।। काल करोना हर्ष उड़ आए। दिव्य…

करोना चालीसा

हे करोना दुःख के गागर। जय महाकाल मृत्यु के सागर।। जय करोना देव गोंसाई। जो भजा वह जान गँवाई।। काल करोना हर्ष उड़ आए। दिव्य…

दुर्योधन कब मिट पाया:भाग-34

जो तुम चिर प्रतीक्षित  सहचर  मैं ये ज्ञात कराता हूँ, हर्ष  तुम्हे  होगा  निश्चय  ही प्रियकर  बात बताता हूँ। तुमसे  पहले तेरे शत्रु का शीश विच्छेदन कर धड़ से, कटे मुंड अर्पित करता…

Responses

  1. व्यंग्यात्मक शैली में 
    कोरोना वायरस की अभिव्यक्ति 

New Report

Close