*किस्मत*

किस्मत से ही बनते हैं,
दिलों के रिश्ते
वरना चंद मुलाकातों से,
कहां रिश्ते बना करते हैं..

*****✍️गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Pragya Shukla - December 1, 2020, 12:05 am

    जिन्दगी जीने का सलीका है वरना आदमी तो चंद मुलाकातों में मर जाता है
    यह पंक्तियां याद आ गई आपकी रचना पढ़कर

  2. Rishi Kumar - December 1, 2020, 8:37 am

    अति सुंदर

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - December 1, 2020, 1:33 pm

    सुंदर

Leave a Reply