कोई जब जीवन से जाता है

कोई जब जीवन से चला जाता है,
टूटता नहीं फ़िर भी नाता है।
बेबस से हो जाते हैं सब,
ग़म उसका हरदम सताता है।
उजड़ ही जाती है, दुनियां किसी की,
जब कोई अपना इस जग से जाता है।
पल – पल याद आती है ,उस प्रियजन की,।
ह्रदय में विरक्ति भाव भी आता है।
कौन सी है वो दुनियां ऐसी,
जहां से लौट के ना कोई आता है।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

13 Comments

  1. vivek singhal - August 6, 2020, 11:31 am

    Right

  2. Vasundra singh - August 6, 2020, 12:44 pm

    rightly said

  3. Satish Pandey - August 6, 2020, 4:36 pm

    वाह जी वाह

  4. Geeta kumari - August 6, 2020, 4:53 pm

    धन्यवाद जी 🙏

  5. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - August 6, 2020, 5:50 pm

    कौन सी दुनिया है जहां से लौट के नहीं आता ‘ दार्शनिक विचार एवं ग्राह्य

  6. Devi Kamla - September 7, 2020, 6:12 pm

    Waah waah

  7. Piyush Joshi - September 24, 2020, 3:45 pm

    वाह जी वाह

Leave a Reply