खामोशियां

खामोशियों की भी,
होती है एक ज़ुबान
कह जाती हैं बहुत कुछ..
बस, सुनने वाला चाहिए…

*****✍️गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

10 Comments

  1. Piyush Joshi - October 21, 2020, 9:53 pm

    बहुत खूब

    • Geeta kumari - October 21, 2020, 10:39 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका पीयूष जी 🙏

  2. Satish Pandey - October 21, 2020, 10:41 pm

    बहुत सुंदर और उम्दा प्रस्तुति

  3. Suman Kumari - October 21, 2020, 11:10 pm

    बहुत ही सुन्दर अभिव्यक्ति

  4. Pragya Shukla - October 21, 2020, 11:39 pm

    Kam shabdon me badhi baat

  5. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - October 22, 2020, 3:11 pm

    अतिसुंदर

    • Geeta kumari - October 22, 2020, 4:00 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका भाई जी 🙏 सादर आभार

Leave a Reply