चमत्कार

ज़िन्दगी, है एक चमत्कार
हर सांस इसकी है,
प्रभु का उपहार
प्रभु की दी हुई नेमत है ये,
यूं कुछ भी कह के
ना कर बेकार..

*****✍️गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

14 Comments

  1. MS Lohaghat - October 22, 2020, 10:09 am

    बहुत बढ़िया

  2. Pragya Shukla - October 22, 2020, 11:10 am

    Nice line

  3. Satish Pandey - October 22, 2020, 12:47 pm

    कवि गीता जी की यह एक सकारात्मक कविता है, जिसमें इस जीवन को ईश्वर का उपहार बताया गया है। और हमेशा सकारात्मक सोचने की बात कही गयी है। कथ्य पूर्णरूप सम्प्रेषण योग्य है और भाव पाठक को दिशा देने में सक्षम है।

    • Geeta kumari - October 22, 2020, 2:49 pm

      इतनी सुन्दर समीक्षा सर, आपकी समीक्षा शक्ति अद्भुत है ।वैसे मेरा यही मानना है कि हम सोच तो सकारात्मक रख ही सकते हैं ।आगे, सबका अपना अपना नसीब । समीक्षा के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद सतीश जी अभिवादन🙏

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - October 22, 2020, 2:07 pm

    अतिसुंदर

  5. Chandra Pandey - October 22, 2020, 3:07 pm

    वाह वाह बहुत खूब

    • Geeta kumari - October 22, 2020, 4:04 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका चंद्रा जी 🙏

  6. Anu Singla - October 22, 2020, 9:36 pm

    NICE

  7. Devi Kamla - October 22, 2020, 10:39 pm

    बहुत खूब

    • Geeta kumari - October 22, 2020, 11:43 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका कमला जी 🙏

Leave a Reply