चिकित्सकों को नमन है मेरा

चिकित्सकों को नमन है मेरा,
चिकित्सकों का है आभार
कठिन समय में साथ है थामा,
बीमारों का हाथ है थामा
है संजीवनी इनके हाथों में,
आधा रोग भगे,इनकी बातों से
मरणासन्न में फूंक दे जान,
धरती पर दूजे भगवान
चिकित्सकों को मेरा प्रणाम,
चिकित्सक हैं कितने महान ।।

*****✍️गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

8 Comments

  1. Pragya Shukla - November 22, 2020, 5:25 pm

    इसी कारण डॉक्टर को
    भगवान माना गया है
    क्योंकि हमारे लिए वह
    कोरोना काल में भी
    जान जोखिम में
    डालकर हमारी
    जान बचाते हैं
    मेरा भी नमन है सभी
    स्वास्थ्य कर्मियों एवं चिकित्सकों को

    • Geeta kumari - November 22, 2020, 8:25 pm

      कविता के भाव को समझने और उसकी सुंदर समीक्षा हेतु आपका हार्दिक आभार प्रज्ञा जी । बहुत बहुत धन्यवाद

  2. Satish Pandey - November 22, 2020, 10:29 pm

    कवि गीता जी की बहुत सुन्दर रचना है, समसामयिक रचना है। पूरे विश्व में फैली इस कोरोना महामारी ने मानव समाज को भीतर तक हिला दिया है। ऐसे में चिकित्सा का क्षेत्र जीवन को बचाने का हरसंभव प्रयास कर रहा है। आपने बहुत सुंदर पंक्तियाँ लिखी हैं, आप हमारी ओर से धन्यवाद की पात्र हैं।
    —सतीश पाण्डेय, चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग उत्तराखंड।

  3. Geeta kumari - November 22, 2020, 10:37 pm

    इतनी सुन्दर और प्रेरक समीक्षा हेतु आपका बहुत बहुत आभार सतीश जी और मेरी रचना का भाव समझने के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद

  4. Rishi Kumar - November 23, 2020, 11:29 am

    अति सुंदर काबिले तारीफ रचना, ❤✍👌👌👌

  5. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 25, 2020, 7:58 am

    अतिसुंदर रचना

    • Geeta kumari - November 25, 2020, 11:51 am

      सादर धन्यवाद भाई जी बहुत बहुत आभार 🙏

Leave a Reply