जय जय जय जय जय श्री राम

जय जय जय जय जय श्री राम
मर्यादा के दुसरे नाम,
जय जय….
वन वासी भये तज के राज
इस जीवन के तुम कृपा निधान
जय जय….
मानवता के सूत्र पिरोये,
तुम शौर्य, तेज, सूरज के वंशज
इस जग में तुम काल अजय हो
तुम्हरे नाम में चारों धाम,
जय जय ….
धर्मात्मा तुम अधर्मि नाशक,
सर्वश्रेष्ठ,तुम मानव के नायक,
हर सुख का बस एक ही नाम
जय जय….
~अजित सोनपाल


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

2 Comments

  1. Satish Pandey - August 6, 2020, 4:34 pm

    जय हो

  2. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - August 6, 2020, 5:42 pm

    जय श्री राम

Leave a Reply