जालियाँवाला बाग़ 13 अप्रैल

#जालियाँवाला_बाग़ #13अप्रैल

कुछ दाग़ लगे जो इतिहास पे,
वो दर्द बहुत दे जाते हैं,

किस्से जब उसके सामने आते
रूह तब-तब फिर काँप सी जाती है

रोती है आत्मा मेरी भी
जब जिक्र उस मंजर का आ जाता है

क्रूरता के बद्तर ढंग को
जलियाँ वाला बाग़ की बातें सामने ला जाती हैं

नमन करता हूँ दिल से मैं भी उस कांड में हुए शहीदों को
देश की ताकत कम न होने देने वाले देश के अद्भुत वीरों को।।

-मनीष


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

amature writer,thinker,listener,speaker.

1 Comment

  1. राही अंजाना - July 31, 2018, 10:36 pm

    Waah

Leave a Reply