डर

बहक ना जाएं कहीं कदम हमारे
डरते हैं इसी बात से हम
क्योंकि गुजरते हैं हर रोज
हम भी मैखानें के करीब से।
वीरेंद्र सेन प्रयागराज


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

6 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - December 3, 2020, 3:21 pm

    सुंदर

  2. Satish Pandey - December 3, 2020, 4:16 pm

    अति उत्तम, क्या बात है

  3. Vasundra singh - December 3, 2020, 8:48 pm

    वाह

Leave a Reply