तजुर्बा ए जिंदगी

तजुर्बों का नाम जिंदगी है।
कभी दुख कभी दिल्लगी है।
किताबों से मिलता ज्ञान अधूरा है।
पूरी जिंदगी ही तजुर्बों का चिठ्ठा है।
यादों में ना जाने किस-किस का किस्सा है।
सुखो के साथ दुखों का भी हिस्सा है।

निमिषा सिंघल


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

7 Comments

  1. Poonam singh - October 8, 2019, 1:28 pm

    Good one

  2. महेश गुप्ता जौनपुरी - October 8, 2019, 7:44 pm

    वाह बहुत सुंदर

Leave a Reply