दुनियां जो कहती, कहने दे

ओ कर्मनिष्ठ! तू दुःखी न हो
खुद की क्षमता की कर पहचान
दुनियां जो कहती, कहने दे
उसकी बातों को मत दे कान।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

3 Comments

  1. मोहन सिंह मानुष - August 6, 2020, 12:16 am

    बहुत खूब

  2. Ramu Kharkwal - August 7, 2020, 6:14 pm

    वाह

Leave a Reply