दोस्ती

तू दोस्ती करेगा
पर एक शर्त मेरी,
जब भी मैं हार बैठूँ
तू साथ ही रहेगा।
आ दोस्त आ गले मिल
तेरे बिना मैं सूना,
तेरा है दर्द मेरा
चिंता न कर मैं हूँ ना।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

9 Comments

  1. Abhishek kumar - August 1, 2020, 5:08 pm

    सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई

    • Satish Pandey - August 1, 2020, 5:12 pm

      🙏🌹

      • Satish Pandey - August 1, 2020, 5:35 pm

        आपका हार्दिक अभिनंदन हैं, मेरी ओर से प्रेम स्नेह, यथायोग्य सादर नमस्कार है। अभिषेक जी ।

    • मोहन सिंह मानुष - August 1, 2020, 6:09 pm

      बहुत-बहुत हार्दिक धन्यवाद ।अभिषेक जी !कई बार गलतफहमी की वजह से रिश्तो में दरार आ जाती है
      आप भी अपनी जगह पर सही थे और सतीश जी भी।
      पहली बार मुझे भी कुछ-कुछ ऐसा ही आभास हुआ था जैसा सतीश जी को हुआ होगा ,मगर मैं चाहता हूं आप ऐसे ही गलतियां निकाले और निष्पक्ष भाव से आलोचना करें ताकि हम अपनी व्याकरण की त्रुटियों को सुधार सकें ,नहीं तो हम ये गलतियां बार-बार करेंगे और ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि आप नकारात्मक टिप्पणी ही करते हैं ,अगर कमी ना हो तो आप सकारात्मक भी करते हैं
      🙏🙏🙏

    • Pragya Shukla - August 1, 2020, 6:14 pm

      पहल करने के लिए धन्यवाद अभिषेक जी।
      अब सभी आपको समझ गए हैं अब से कोई गलतफहमी नहीं होगी।

  2. Master sahab - August 1, 2020, 5:12 pm

    congratulation

  3. Satish Pandey - August 1, 2020, 5:13 pm

    🙏🌹

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - August 1, 2020, 5:42 pm

    अतिसुंदर

Leave a Reply