दोस्ती

दोस्तों के नाम पर
कुर्बान हर पल
भीतर से हृदय से
आवाज गूंजी है,
दोस्ती तो ताकत
होती है सबकी
दोस्ती तो जीवन की
अनमोल पूंजी है।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

*दोस्ती*

दोस्ती और मुहब्बत

दोस्ती का नियम

दोस्ती

11 Comments

  1. Ramesh Joshi - October 9, 2020, 11:25 pm

    दोस्ती पर लाजवाब कविता सर

  2. Pragya Shukla - October 9, 2020, 11:30 pm

    उत्तम अभिव्यक्ति

  3. Geeta kumari - October 9, 2020, 11:53 pm

    “दोस्ती तो ताकत होती है सबकी ,दोस्ती तो
    जीवन कीअनमोल पूंजी है” वाह सतीश जी दोस्ती पर बहुत ही शानदार रचना लिखी है ।सच ही लिखा है आपने दोस्ती ताकत ही होती है। जीवन में दोस्त हमारी पूंजी ही होते है, जिसे कोई चुरा भी नहीं सकता है ।दोस्तों के लिए हृदय से हरदम दुआ ही निकलती है ।
    दोस्तों के सुख में सुख ,और दुख में दुख महसूस होता है ।बहुत ही भाव पूर्ण रचना और शानदार प्रस्तुति ।कलम को सलाम

    • Satish Pandey - October 10, 2020, 7:22 am

      कविता के भाव का इतनी बेहतरीन तरीके से विश्लेषण करने हेतु आपको हार्दिक धन्यवाद है गीता जी। यही तो कवि का उत्साहवर्धन होता है। जय हो।

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - October 10, 2020, 7:59 am

    वाह वाह

  5. Rishi Kumar - October 10, 2020, 8:43 am

    आपने सही कहा

  6. Suman Kumari - October 10, 2020, 11:53 am

    सुन्दर

Leave a Reply