दोस्ती

दोस्ती

***
दोस्ती हो
तो ऐसी कि
उसके मुक़ाबिल
पुश्तैनी दुश्मनी भी
फ़ीकी पड़ जाये….

दोस्त
के बिना
रहा न जाये
अगर दोस्त मिल जाए
तो कुछ और न भाये….
****
@deovrat 15.09.2019

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

By DV

14 Comments

  1. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 15, 2019, 10:34 am

    वाह बहुत सुन्दर

  2. Mithilesh Rai - September 15, 2019, 11:41 am

    बहुत खूब

  3. NIMISHA SINGHAL - September 15, 2019, 11:48 am

    Wah

  4. Poonam singh - September 15, 2019, 12:38 pm

    Good

  5. NIMISHA SINGHAL - September 16, 2019, 1:29 pm

    Ultimate

    • DV - September 16, 2019, 2:06 pm

      Thank a lot Nimisha, for beautiful appreciation

      • DV - September 16, 2019, 2:07 pm

        Thank you so much

  6. राही अंजाना - September 16, 2019, 2:05 pm

    वाह

Leave a Reply