नियत

काली मुलायम उड़ती जुल्फें तेरी,
इश्कबाज़ों पे कयामत ढाती है।
जब चले तू खुली वादियो में,
घटा की नियत भी बदलती है।।

Related Articles

काली घटा

काली घटा छाई है लेकर साथ अपने यह ढेर सारी खुशियां लायी है ठंडी ठंडी सी हव यह बहती कहती चली आ रही है काली…

Responses

  1. मोहब्बत की खूबसूरती का सुन्दर वर्णन किया है आपने।।

New Report

Close