“पीर मोहब्बत की”

कभी झाँककर देखो
मेरे दिल की गहराई

तुम भी रो पड़ोगे देख !
मेरे यार की रुसवाई

पीर मेरी मोहब्बत की
बस जानता है वो !

जिसने उम्र भर मोहब्बत में
फकत दिल पे चोट है खाई

Related Articles

Responses

New Report

Close