प्रेम

आओ हम सब मिल कर के,
एक नया रंग चढ़ा लें

शांति प्रेम एकता का,
अबीर गुलाल लगा लें

-विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)-

Related Articles

Responses

New Report

Close