फूलों की महफ़िल

सब फूलों ने मिलकर,
महफ़िल एक सजाई।
किस की सबसे सुन्दर रंगत,
और किस की महक मन भायी।
बेला चमेली और मोगरा ने महक कर,
वेणी खूब सजाई।
गेंदा और गुलाब ने,
मन्दिर में धूम मचाई।
हरसिंगार के फूलों ने,
किया श्री हरि व हरि-प्रिया का श्रृंगार।
पुष्प पलाश के लाए सखि,
होली के उत्सव की बहार।।
____✍️गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

8 Comments

  1. Rajeev Ranjan - February 24, 2021, 6:06 am

    लाजबाव बेमिसाल

    • Geeta kumari - February 24, 2021, 11:24 am

      बहुत-बहुत धन्यवाद राजीव जी 🙏

  2. Rakesh Saxena - February 25, 2021, 6:32 am

    फूलों की महफ़िल – शानदार

  3. Satish Pandey - March 1, 2021, 12:52 am

    जीवन की रंगीनी से सरोबार बेहतरीन रचना। बहुत सुंदर प्रस्तुति

    • Geeta kumari - March 1, 2021, 9:35 am

      सुन्दर और प्रेरणा देती हुई समीक्षा हेतु हार्दिक धन्यवाद सतीश जी
      बहुत-बहुत आभार सर

Leave a Reply