बादल

शिव नहीं है चंदन नहीं हैं मगर सांपो को लिपटाए हैं
आज कल इस धरती में इसी तरह के बादल छाए है

Related Articles

Responses

New Report

Close