बारिश की बूंदें

बारिश की बूंदें
सहला गईं प्रकृति का अंग अंग
हरियाईं उपेक्षित शिलाएं
अहिल्या जन्मी
राम जी के पदन्यास से

०८.०२.२०२२

Related Articles

Responses

New Report

Close