बेरोजगारी

कड़ी बेरोजगारी से
दुखी है हर युवा देखो
धरी ही रह गई तैयारियां
परीक्षा रुक गयीं देखो।
निराशा के भंवर में
पड़ न जाए देश का यौवन
समय रहते करो मिलकर
संवारो देश का यौवन।

Related Articles

Responses

New Report

Close