भोजपुरी पूर्वी लोक गीत- कररवा ये रजऊ

भोजपुरी पूर्वी लोक गीत- कररवा ये रजऊ

कई के कररवा ये रजऊ|
करेजा काहे काढ़ी हो गईला |
पलटी के ना देखला ये करेजउ |
धोखा मे हमके डाली हो गईला |
बोला बोला ये बेईमनवा |
कईला काहे करेजवा कठोर |
देखाई के हमके सपनवा |
बीच भवरा छोड़ी हो गईला |
कई के कररवा ये रजऊ|
सुना सुना ये घटिहउ
छतिया फाटेला हमार |
पकड़ी के हमरो कलईया |
छोड़ी हमरा तू छलिया हो भईला |
कई के कररवा ये रजऊ|
आवा आवा हमरे लगवा आवा |
माना ना बतिया हमार |
भरी अंकवारिया हो हमके |
प्यार हमके खाली हो कईला |
कई के कररवा ये रजऊ|
करेजा काहे काढ़ी हो गईला |

श्याम कुँवर भारती [राजभर] कवि ,लेखक ,गीतकार ,समाजसेवी ,
मोब /वाहत्सप्प्स -995550928

Related Articles

प्यार अंधा होता है (Love Is Blind) सत्य पर आधारित Full Story

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ Anu Mehta’s Dairy About me परिचय (Introduction) नमस्‍कार दोस्‍तो, मेरा नाम अनु मेहता है। मैं…

Responses

New Report

Close