मकसद पूरा हो गया

साल भर में मेरा वजन
ढाई सौ ग्राम बढ़ गया
उनको लगा कि
मध्याह्न भोजन योजना का
मकसद पूरा हो गया,
आंकणों में मेरा नाम और
वजन दर्ज हो गया।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

रिक्तता

‘सच’ बस तु हौले से चल…

*हमें आजकल फुर्सत नहीं है*

रसोई घर में खलबली

10 Comments

  1. Chandra Pandey - December 20, 2020, 1:20 pm

    Very nice

  2. Piyush Joshi - December 20, 2020, 4:19 pm

    बहुत अच्छे

  3. Geeta kumari - December 20, 2020, 4:35 pm

    सिस्टम पर तंज करती हुई कवि की बहुत सुन्दर रचना

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - December 20, 2020, 6:02 pm

    वाह वाह
    बहुत खूब

  5. Praduman Amit - December 20, 2020, 7:23 pm

    ,स्वस्थ खुशहाल तो मन खुशहाल।

Leave a Reply