“माँ अपनी गोदी में सुला ले”

मैं नन्हीं-मुन्हीं बच्ची हूँ
अकल की थोड़ी कच्ची हूँ
मां अपनी गोदी में सुला ले
मैं तो तेरी बच्ची हूँ
थक जाती हूँ खेल-खेलकर
सब मुझको देखें हँस-हँसकर
सब कहते हैं मैं अच्छी हूँ
मैं तो तेरी बच्ची हूँ


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

4 Comments

  1. Geeta kumari - November 19, 2020, 2:35 pm

    एक छोटी बच्ची की भावनाओं का सजीव चित्रण

  2. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 21, 2020, 8:29 am

    सुंदर

Leave a Reply