मुक्तक

एक मुक्तक

चढा सूरज भी उतर जायेगा
तपन पर मेघ बरस जायेगा |
देख अंधेरा धैर्य को रखना
तिमिर को चीर प्रकाश आयेगा ||
उपाध्याय…


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

मुक्तक

मुक्तक

मुक्तक

मुक्तक

2 Comments

  1. Kalki Desai - July 28, 2016, 6:31 pm

    bahut khoob

Leave a Reply