मैं भी चौकीदार!

इश्क़ ने हमें बर्बाद किया;
फिर भी दिल ने; खुद को आबाद किया।-२
अरे! ना आती है ,
तो ना आए !
नींदें रात को,
मैं भी चौकीदार !
गर्व से!
मोदी जी को याद किया।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

8 Comments

  1. Vasundra singh - November 2, 2020, 5:42 pm

    वाह!

  2. Rishi Kumar - November 2, 2020, 7:47 pm

    बड़े दिनों बाद सर
    बहुत👌 अच्छी रचना

    • मोहन सिंह मानुष - November 3, 2020, 1:29 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद ऋषि जी
      8683867885
      कभी अपने कीमती समय में से थोड़ा सा समय दे।
      अच्छा लगेगा मुझे 😊🙏

  3. Geeta kumari - November 2, 2020, 7:50 pm

    सुंदर रचना

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 2, 2020, 8:16 pm

    अतिसुंदर भाव

  5. मोहन सिंह मानुष - November 3, 2020, 9:33 am

    बहुत बहुत आभार आप सभी का🙏🙏

  6. Pragya Shukla - November 6, 2020, 7:49 pm

    👏👏👏

Leave a Reply