मैं

मैं एक नज़्म हूँ मुझे जी कर देखो,
कोई ख़्वाब नहीं कि भूल जाओ मुझे,
मैं एहसास हूँ मुझे महसूस करो,
कोई गीत नहीं कि गुनगुनाओ मुझे.

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

6 Comments

  1. Antariksha Saha - August 10, 2019, 9:48 pm

    Bahut khub kaha apne

  2. Poonam singh - August 12, 2019, 1:56 pm

    Awesome

  3. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 12, 2019, 10:52 pm

    वाह बहुत सुंदर

Leave a Reply