यह अपना गणतंत्र

अब हम हैं स्वतंत्रत
देखो यह‌ अपना गणतंत्र।
७२वी वर्षगांठ में भी
देखो उमंग, कहां से लाया कैसा मंत्र
यह अपना गणतंत्र।
देख के इसका रूप सलौना
पाक तरस रहा,चीन रचता षड़यंत्र
यह अपना गणतंत्र।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

11 Comments

  1. vivek singhal - January 26, 2021, 10:34 pm

    Good

  2. Satish Pandey - January 26, 2021, 10:55 pm

    बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति

  3. Geeta kumari - January 27, 2021, 10:27 am

    सुंदर भाव

  4. Rishi Kumar - January 27, 2021, 3:23 pm

    सुन्दर रचना

  5. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - January 27, 2021, 7:49 pm

    बहुत खूब

Leave a Reply