रंगरेज

बन रंगरेज इस तरह रंग डाले,
रंग ए रूह और भी निखर जाए।
मिले गले इस तरह दोस्त बनकर,
दुश्मनी हो अगर, टूटकर बिखर जाए।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Panna.....Ek Khayal...Pathraya Sa!

3 Comments

  1. Neha - March 22, 2019, 5:44 pm

    Nice

  2. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 8, 2019, 12:40 am

    वाह बहुत सुंदर

  3. Abhishek kumar - November 25, 2019, 8:44 am

    Sunder

Leave a Reply