लफ्ज़ो के साथ ज़बरदस्ती नहीं करते।

लफ्ज़ो के साथ ज़बरदस्ती नहीं करते।
शायर कभी आबादी में बस्ती नहीं करते।।

Related Articles

शायर

शायर 🌺——🌺 शब्दों के तीरों से भरे तरकश सा व्यवहार करते हैं… शायर भी क्या खूब यार करते हैं। एक एक तीर से घायल हजार…

Responses

New Report

Close