वफा के बदले

खट्टी मीठी यादों से आज
उस बेवफा की तस्वीर बनाई।
दिल में आ कर देखिए
दूर हो गया आज सनम हरजाई।।
अक्सर मैं सुना करता था
प्यार में रब बसता है।
गर रब बसता है तो मैने
मुहब्बत में धोखा क्यों खाई।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Pragya Shukla - November 11, 2020, 7:58 pm

    बहुत सुंदर भाव
    हर किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती

  2. Satish Pandey - November 11, 2020, 8:01 pm

    बहुत सुंदर अभिव्यक्ति

  3. Geeta kumari - November 11, 2020, 8:50 pm

    सुन्दर भावाभिव्यक्ति

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 12, 2020, 10:17 pm

    बहुत सुंदर

Leave a Reply