शरद ऋतु का आगाज

शरद ऋतु का आगाज़
—————————-
लंबी हो चली रात ,
कोहरा और बरसात।
ऐसे में तेरा साथ,
रूमानी एहसास।
गुलाबी होठों के खुलते ही गर्म सांसों की आवाज़।
कोहरे की चादर ओढ़े सूरज की तबीयत नासाज।
यह है शरद ऋतु का आगाज़।
निमिषा सिंघल


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

1 Comment

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - January 7, 2021, 9:21 pm

    बेहतरीन

Leave a Reply