साझा

ज़िन्दगी में जो ख़ुशी मिली है ए दोस्त,
बिन तेरे उस खुशी का क्या करूं…..
उसमें मुझे तेरा साझा भी चाहिए।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

20 Comments

  1. Satish Pandey - September 28, 2020, 11:43 pm

    बहुत ही बेहतरीन पंक्तियाँ हैं। भावगत विशेषता के साथ कलापक्षीय सौंदर्य अद्भुत है। वाह।

    • Geeta kumari - September 29, 2020, 9:35 am

      सुन्दर समीक्षा हेतु आपका हार्दिक धन्यवाद सतीश जी । आपका बहुत बहुत शुक्रिया सर 🙏

  2. Isha Pandey - September 28, 2020, 11:45 pm

    आपका जबाब नहीं। बेहतरीन पंक्तिया

  3. Suman Kumari - September 29, 2020, 12:12 am

    सुन्दर अभिव्यक्ति

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 29, 2020, 7:11 am

    बहुत खूब

    • Geeta kumari - September 29, 2020, 9:37 am

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका भाई जी 🙏

  5. Devi Kamla - September 29, 2020, 7:57 am

    बहुत सुंदर पंक्तियों के सृजन किया है आपने। बहुत खूब

    • Geeta kumari - September 29, 2020, 9:40 am

      आपकी इस टिप्पणी का तहे दिल से शुक्रिया कमला जी🙏

  6. MS Lohaghat - September 29, 2020, 8:09 am

    मित्रता के महत्व को प्रतिपादित करती बेहतरीन lines। बहुत बढ़िया

    • Geeta kumari - September 29, 2020, 9:58 am

      कविता के भाव को समझने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद सर 🙏

  7. Ramesh Joshi - September 29, 2020, 9:02 am

    बहुत ही सुंदर कविता। यूँ ही निरंतर सुंदर तरीके से लिखते रहें।

  8. Seema Chaudhary - September 29, 2020, 12:32 pm

    दोस्ती के ऊपर बहुत ही सुन्दर कविता

  9. मोहन सिंह मानुष - September 29, 2020, 1:39 pm

    बहुत सुंदर पंक्तियां

  10. प्रतिमा चौधरी - September 30, 2020, 10:37 am

    बहुत खूब

Leave a Reply