ज़हर इस तरह घुला जिंदगी में

ज़हर इस तरह घुला जिंदगी में
हर गूंठ में मुहं कढवा होता गया|
बारिशों का तो आना जाना नहीं अरसे से
सूखे से रिश्ता हमारा होता गया||


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

Talking to a friend

From Death 2 Life

From Death 2 Life

From Death 2 Life

अपने ही सूरज की रोशनी में

3 Comments

  1. Puneet Sharma - September 25, 2016, 4:37 pm

    very good. umda!

  2. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 9, 2019, 6:50 pm

    वाह जी वाह

Leave a Reply