फ़िज़ूल कोशिशें…….

भला मुक्कदर का लिखा कोई मिटा पाया है
वो खामखा ही फ़िज़ूल कोशिशें करा करते है……………!!

                                                      ……………….D K

Related Articles

Responses

New Report

Close