🌹🌹याराना🌹🌹

🌹🌹 Friendship Day special🌹🌹
गजल:- 🌹🌹याराना🌹🌹

प्रेम से भी बड़ा बन्धन,
सुकून आये दोस्ती में।
कभी कृष्णा कभी अर्जुन
याद आये दोस्ती में।

अपनी जिंदगी से
हार थक करके हर इन्सान,
सभी परेशानियां और
गम भूल जाये दोस्ती में।

बना दे जिंदगी सुंदर
निभाओ साथ जब दिल से
यकीन करना बड़ा मुश्किल
दग़ा गर कोई दे फिर से।

दोस्ती है बड़े विश्वास
और एहसास का बन्धन,
निभाओ इसको तुम निःस्वार्थ
हो विश्वास जब दिल से।

मेरे मन के मंदिर में
दोस्ती राज करती है,
मेरे यार की मूरत
ही मन में वास करती है।

मेरे दोस्त और मुझसे
है कुछ ज्यादा ही मीठापन
साथ बस कुछ ही पल का है
ये दुनिया बात करती है।

कर्ण ने दुर्योधन से
निभाया खूब याराना।
रक्त के रिश्तों को तोड़ा
निभाया खूब याराना।

कन्हैया ने तो अर्जुन को
गीता उपदेश दे डाला,
उठा हथियार वचन तोड़ा
निभाया खूब याराना।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

*दोस्ती*

दोस्ती

दोस्ती और मुहब्बत

दोस्ती का नियम

6 Comments

  1. Satish Pandey - August 2, 2020, 11:24 pm

    बहुत खूब

  2. Anita Mishra - August 3, 2020, 12:39 am

    अति सुन्दर रचना
    दोस्ती की सबसे सुन्दर प्रस्तुति
    आप कमाल लिखती हैं।
    यूँ ही लिखती रहिये प्रज्ञा जी।
    आप अच्छी कवयित्री है
    👏👏👏👏

  3. Anita Mishra - August 3, 2020, 12:39 am

    Nice lines

  4. Deepak Mishra - August 3, 2020, 12:43 am

    दोस्ती के हर पहलू में प्रकाश डालती सुन्दर प्रस्तुति
    वाह क्या बात है
    खूबसूरत कविता लिखी है

  5. Deepak Mishra - August 3, 2020, 12:44 am

    great work

Leave a Reply