बाकी सब ले गया मेरा ‘सब कुछ’

कुछ हर्फ़, चंद अहसास और कुछ खारे से मोती
यही सब बचा है मेरे पास,
बाकी सब ले गया मेरा ‘सब कुछ’

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Loves life I live :)

2 Comments

  1. Komal Nirala - November 29, 2015, 10:43 am

    Nice words chosen and the way of expression..

Leave a Reply