वही पुरानी तसल्ली

फ़ुर्सत मिले तो पढ़ लिया करो 2 लाइने मेरे शायरी की,
ये वो शायरी है जो कभी गलत नहीं होती।

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Leave a Reply