Satyam Barnaval

Friends

  • Profile picture of राही अंजाना
    राही अंजाना - "जिसने जब चाहा दिल से मेरे शरारत कर ली, अधूरी ख्वाइशों की जैसे पूरी इबारत कर ली, के रहमत रही खुदा की शायद इस नाचीज़ पर, जो मोहब्बत में ‘राही’ ने खड़ी इमारत कर ली।। राही अंजाना"View
    active 1 hour, 30 minutes ago