Poems

वो इतना घबरा गए है

वो इतना घबरा गए है वफ़ा के नाम पर
बेवफाई के नमूनो की तस्वीर सजा रहे है
राजेश’अरमान’

तज़ुर्बे जलने के

तज़ुर्बे जलने के बटोरे उम्र भर
जानता हूँ बेकार नहीं जायेगा
राजेश’अरमान’

वो झूठ भी बोलते है

वो झूठ भी बोलते है इस सफाई से
सच भी उनके सामने झूठ बन जाता है
राजेश’अरमान’

कुछ गुजरने जैसी ही

कुछ गुजरने जैसी ही गुजर जाती है
किसी तमगे की मोहताज नहीं होती ज़िंदगी
राजेश’अरमान’

उनके फेके पत्थर

उनके फेके पत्थर अब तक उठा रहा हूँ
न जाने फिर कब उनके काम आ जाएँ
राजेश’अरमान’

Page 1336 of 1637«13341335133613371338»