कविता गज़ल गीत शेर-ओ-शायरी

বাংলা भोजपुरी ગુજરાતી छत्तीसगढ़ी ਪੰਜਾਬੀ मराठी English  अवधी

4.1k Poets 13.6k Poems 78k Reviews


‘Poetry on Picture’: सावन काव्य प्रतियोगिता (Result)

Trending Poets @Saavan

सर्वश्रेष्ठ कवि :  सतीश पांडेय 
सर्वश्रेष्ठ आलोचक व सदस्य : गीता कुमारी



 संपादक की पसंद

 कविता प्रकाशित करने के लिए यहां क्लिक करें |


Latest Activity

  • दर्द का घमंड चूर करो
    दर्द में खूब हँसो
    तोड़ पाये न हौसला अब यह
    खूब हंसकर कर इसे तुम
    दूर करो।
    मुश्किलों से न घबराओ कभी
    बल्कि आ जाओ जिद में
    मुश्किलें हार जायें
    उन्हें मजबूर कर दो।
    समय विपरीत हो ज […]

  • दिया बनकर लड़ो
    अंधेरे से
    खुद भी रोशन रहो
    सभी को रोशनी दो,
    किसी की जिन्दगी में
    अगर हों स्याह रातें,
    आप बनकर सहारा
    उन्हें भी रोशनी दो।
    प्रेम ही है उजाला
    उसे बांटो सभी को,
    और बदले में पाओ
    मुस्कुराहट का […]

    • शीर्षक में टाइपिंग मिस्टेक हुई है, सही शीर्षक का निम्नवत संज्ञान लीजियेगा —
      दिया बनकर लड़ो अंधेरे से

    • वाह वाह बहुत ही खूब, पाण्डेय जी

  • कविता-भाई खुश हो
    ————————–
    भाई खुश हो,
    आज तुम्हारा जन्मदिन है,
    मैं तो तुमसे दूर हूं
    मेरा आशीष तुम्हारे साथ है,
    प्यार मिले ,
    सत्कार मिले,
    सम्मान मिले,
    मिले जगत से –
    खुशियों का सार […]

    • आज तुम्हारा जन्मदिन है,
      मैं तो तुमसे दूर हूं मेरा आशीष तुम्हारे साथ है,
      ____कवि ऋषि जी द्वारा प्रस्तुत अति सुन्दर कविता ,एक बहन की, उसके भाई के जन्म दिन पर बहुत सुंदर आशीष देती हुई अति उत्तम रचना

    • बहुत सुंदर प्रस्तुति ऋषि। खूब लिखते रहें, अति सुन्दर

  • नव वर्ष की उमंग सी होती है बेटियां,
    संगीत की तरंग सी होती है बेटियां
    मां-बाप के हर दर्द में रोती हैं बेटियां,
    सागर से निकले मोती सी होती है बेटियां
    सुमधुर काव्य-गायन सी होती है बेटियां,
    ब्रह्म मुहूर्त सी प […]

  • दिनकर आए हैं कई दिनों के बाद,
    विटामिन डी ले लो।
    बांट रहे हैं मुफ्त में सौगात,
    विटामिन डी ले लो।
    बातें करो धूप संग कुछ देर बैठ कर,
    किरणों को बैठाओ देकर आसन
    दिनकर होंगे बहुत प् […]

    • विटामिन डी ले लो
      अति सुंदर रचना

    • अकड़ा सा बदन खुल जाएगा,
      सर्दी में थोड़ा ताप मिल जाएगा,
      आज है दिवस सुनहरा,
      विटामिन डी ले लो।
      ——– शिक्षिका कवि गीता जी की बहुत सुंदर सलाह और बेहतरीन अभिव्यक्ति।

  • अंधेरी रात में यूँ छोड़कर
    रूठ कर चल दिये थे
    तुम अचानक
    सोचते रह गए हम
    कि आगे क्या होगा,
    मगर देखा सुबह तो
    रोज की ही भांति
    सूरज उग आया।
    उड़गनों ने सदा की
    तरह ही गीत गाया।
    जहाँ कल तक थी किरणें
    अब भी […]

  • हार गए
    इसलिए उदास हो ना
    खूब निराश हो ना
    दिल टूट गया है ना
    उत्साह रूठ गया है ना
    सब तरफ से हताश हो ना,
    हाथों में माथा टेककर
    सोच रहे हो ना क्या करूँ
    तो सुनो, सबसे पहले उदासी छोड़ो,
    निराशा की कड़ी तोड़ो,
    ज […]

    • तुम्हें निरुत्साह को है हराना,
      जीवन का सच समझ कर
      अपना मार्ग है बनाना।
      ___उत्साह को बनाए रखने हेतु बहुत सुन्दर पंक्तियां । उत्कृष्ट रचना और सुंदर शिल्प लिए हुए बहुत सुंदर कविता

    • अतिसुंदर अभिव्यक्ति

    • जन्म लेते समय कुछ नहीं लाए थे साथ ,
      तब क्या है हारने की बात
      समझ गए ना—–

      बहुत सुंदर रचना
      निराशा में डूबे व्यक्ति को उत्साहित करते हुए अति सुंदर रचना

  • ए ठंडी बयार सुनो न
    कभी मुझसे भी मिल जाया
    करो
    घड़ी दो घड़ी मुझसे बात करने आया करो
    अकेला है दिल मेरा
    कभी इसको ही बहला जाया करो
    दर्द से तड़पता है ये
    कभी अपने एहसास से सहला जाया करो
    नही लगत […]

  • खुद पर न कर गरूर इतना
      खुदा भी नाराज़ हो जाएगा
    इबादत है इश्क़ तो रब की
      की जो इबादत तो रब भी खुश हो जाएगा
    बन जाएगा बिगड़ा काम भी
      जो तू इश्क़ से इश्क़ कर जाएगा
    मेरा मुक्कदर तो नाराज़ है मुझसे
      पर तेरा तो […]

  • वक्त ऐसा है
    हालात इस तरह के हैं
    कैसे आगे बढूं
    यह न सोच मन में।
    वक्त को बदल ले मेहनत से,
    न रख स्वयं को गफलत में,
    कि खुद ब खुद होगा सब कुछ,
    कर्म से
    तुझे स्वयं की राह
    बनानी होगी,
    बहा पसीने को
    ठंड भगानी हो […]

  • ओस की बूंद बनकर
    सूरज के आने पर
    छुप न जाया करो
    वरन हिम्मत रखो।
    रात ही है नहीं तुम्हारे लिए
    दिवस भी है तुम्हारे लिए
    मुकाबला कर लो
    मुकाबला करो
    हरेक स्थिति से
    सच्चा संघर्ष तुम्हें जीत देगा
    स […]

  • Noorie Noor changed their profile picture 1 day, 10 hours ago

  • Load More

 सावन एक आनलाइन प्लेटफ़ार्म है, जहां एक कवि अपनी कविताओं को प्रकाशित कर सकता है, एक कवि की साशियल प्रोफ़ाइल के रूप में इसे जाना जाता है| यहां कवि अपनी कवितायें तो प्रकाशित तो करते ही है, साथ ही अन्य कवियों की कविताओं का लुफ़्त उठाते हुए, उनका आंकलन भी करते है|

आधुनिक कवियों को एक मंच उपलब्ध कराना ही हमारा प्रयास है, जहां नवीन प्रतिभाओं को उपयुक्त पहचान और सम्मान दिया जा सके। इसके साथ ही हम आधुनिक साहित्य की बिखरी हुई अनमोल रचनाओ का संकलन करना चाहते है ताकि अगली पीढ़ी इस अनमोल धरोहर का आनंद और लाभ ले सके|

आप सभी से अनुरोध है की हमारे इस प्रयास में अपना योगदान दे| अगर आप को लगता है की आप अच्छा लिखते हैं या आप अपने आस पास किसी भी व्यक्ति को जानते हो जो अच्छा लिखते हैं, उन्हें सावन के बारे में जरूर बताएं।

 सावन पर सत्यापित बैज verified badge के लिये अनुरोध करें|

सम्पर्क:  
+91 91168 00406
 connect@saavan.in