Gautam, Author at Saavan's Posts

ग़ज़ल

उपर चढ़ते , नीचे जाते ईमान खरीदे बेचे जाते ~ ए सी कमरों में बैठ कर क्या क्या नहीं सोचे जाते ~ सियासत का पहला पाठ पाँव कैसे खींचे जाते ~ किरदार पे कैसा भी हो दाग पैसों से सब पोंछे जाते ~ सच बोलने वालों के तो सरे राह मुँह नोचे जाते ~ स्कूल भेजना बंद किया जेल तभी तो बच्चे जाते ****************************** रचानकार :- गौतम कुमार सागर »