Poonam Agrawal, Author at Saavan's Posts

Holi

आहट पाकर फागुन की, पेड़ों ने ओढ़नी बासंती ओढ़ी धमाल फाग संग चंग बजाने, निकली मस्तानों की टोली हल्की फुल्की ठंड के साथ, मौसम करे आंख मिचौली धूम मचाओ, रंग उड़ाओ, क्यों कि आ गया है होली बच्चे निकले घरों से ले, हाथों में अबीर गुलाले लगी महिलाएं गोबर संग, बड़कुल्ले ढाल बनाने मिठाइयों की महफिल सजती, किसे छोडे होठों से लगा ले ऐसी है होली की मस्ती, सबको रंग में अपने मिला ले कोई खेले रंगो से, कोई खेले फूलो... »