Pramod Kumar Singh's Posts

कुर्बानी के दम पे मिली है आजादी

कुर्बानी के दम पे मिली है आजादी •~•~•~•~•~•~•~•~•~•~•~•~• उनसे ज्यादा है किसी का कोई तो सम्मान बोलो जिसके आगे झुक गया है सारा हिन्दूस्तान बोलो मुक्ति के जो मार्ग पर निकले थे ले अरमान बोलो आखरी वही साँस तक लड़ते हुये बलिदान बोलो मातृभूमि पर जो न्योछावर हो गये, वही प्राण थे भारतमाता के राजदुलारे वही तो प्रिये संतान थे जान की बाजी लगाकर काट बन्धन दासता के बेड़ियों से मुक्त माँ को करने में ही हुये कुर... »